वह रुका पल कोई घर है कहीं

वह रुका पल कोई घर है कहीं

Friday, September 23, 2005

ना पत्थर ना आकाश ना पानी