वह रुका पल कोई घर है कहीं

वह रुका पल कोई घर है कहीं

Sunday, October 08, 2006

पत्थर हो जाएगी नदी



















अकेले नहीं होंगे तो फिर किस के साथ होंगे