वह रुका पल कोई घर है कहीं

वह रुका पल कोई घर है कहीं

Saturday, November 18, 2006

नवंबर- दो हजार छह


एक वसंत था कभी
पतझर अब,
लौटेगा फिर कभी




18.11.06

©

No comments: