वह रुका पल कोई घर है कहीं

वह रुका पल कोई घर है कहीं

Tuesday, June 21, 2016

कविता संग्रह अमेज़न पर

'शेष अनेक' की जो लेखकीय पाँच प्रतियाँ यहाँ पहुँची वे हवा लगते ही फुर्र हो गईं। अब कविता संग्रह अमेज़न पर उपलब्ध है।
Now available to buy from Amazon site.

http://www.amazon.in/gp/product/9384109053